Wed. Apr 17th, 2024

शंकर ग्रुप के निवेश में ‘हिमालय स्टॉक एक्सचेन्ज’ ! अन्य उद्योगपति भी शामील

काठमांडू, अप्रील २२ । ‘हिमालय स्टॉक एक्सचेन्ज’ नाम से नयां स्टॉक एक्सचेन्ज संचालन के लिए अनुमति मांग करते हुए नेपाल धितोपत्र बोर्ड में निवेदन पेश हुआ है । बोर्ड से अनुमति प्राप्त होगी तो व्यवसायिक घराना शंकर ग्रुप के मूल निवेश में यह एक्सचेन्ज संचालन होनेवाला है । लेकिन इसमें अन्य उद्योगपतियों का भी सहभागिता (शेयर) है । लम्बे समय से नेपाल में नयां स्टॉक एक्सचेन्ज संचालन के लिए प्रयास हो रहा था । सर्वोच्च अदालत में इसके विरुद्ध रिट पंजीकृत होने के कारण प्रक्रिया रुक गई थी ।
जब सर्वोच्च के न्यायाधिश अनिलकुमार सिन्हा और सुष्मालता माथेमा ने रिट निवेदन खारीज किया, तब बोर्ड ने एक सूचना जारी करते हुए नयां स्टॉक एक्सचेन्ज संचालन के लिए इच्छुक व्यक्ति तथा व्यवसायिक संस्था को निवेदन पेश करने के लिए कहा था, उसका समयावधि कल आइतबार तक है । शुक्रबार तक ‘हिमालय स्टॉक एक्सचेन्ज’ नाम से एक ही कम्पनी ने निवेदन दिया है ।
हिमालयन स्टक एक्सचेन्ज में शंकर ग्रुप के अध्यक्ष शंकर गोल्यान की प्रमुख निवेश रहेगी । उद्योगी पशुपति मुरारका, शेखर गोल्छा, भवानी राणा, राजेन्द्र खेतान, अमित मोर, सौरभ ज्योति, जुनी गुरुङ, आशिष श्रेष्ठ, दीपक भट्ट जैसे उद्योगपति भी उनको साथ देंगे । नयाँ स्टक एक्सचेन्ज के लिए न्यूनतम ३ अरब रपयों की चुक्ता पुंजी होनी चाहिए । संस्थागत निवेशकर्ताओं की ७० प्रतिशत और सर्वसाधरणों की ३० प्रतिशत निवेश में कम्पनी संचालन में लाया जाएगा ।
नेपाल में आज तक एक ही कम्पनी ‘नेपाल स्टक एक्सचेन्ज’ है, जो नेपाल सरकार के निवेश में है । विकसित देशों में एक से अधिक स्टॉक एक्सचेन्ज संचालित है । भारत में २३ स्टक एक्सचेन्ज सञ्चालित है, लेकिन बम्बई स्टक एक्सचेन्ज (बिएसई) और नेसनल स्टक एक्सचेन्ज (एनएसई) मुख्य है ।



About Author

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: