Thu. Jul 18th, 2024

नेसपा द्वारा महिन्द्र राय यादव के साथ ही और नेताओं को किया गया निष्कासित



काठमांडू , असार ३ – बाबुराम भट्टराई नेतृत्व के नेपाल समाजवादी पार्टी (नेसपा) ने अपनी पार्टी से महिन्द्र राय यादव के साथ ही अन्य नेताओं को निष्कासित कर दिया है ।
यादव प्रतिनिधि सभा सदस्य छन् । २०७९ के चुनाव में नेसपा अध्यक्ष समेत रहे यादव ने नेकपा (माओवादी केन्द्र) के चुनाव चिह्न से सर्लाही क्षेत्र नम्बर २ से निर्वाचन जीता था ।
इसी तरह नेसपा ने पार्टी के सह अध्यक्ष समेत रहे बागमती प्रदेश सभा सदस्य गंगानारायण श्रेष्ठ को भी पार्टी से निष्कासित कर दिया है । श्रेष्ठ बागमती में आन्तरिक मामिला तथा कानून मन्त्री हैं । वें २०७९ के चुनाव में माओवादी के चुनाव चिह्न से सिन्धुली क्षेत्र नम्बर २ के प्रदेश सभा क्षेत्र २ से निर्वाचित हुए थे । उनके साथ ही नेसपा ने रमेशप्रसाद यादव के साथ ही और लोगों को भी पार्टी से निष्कासित कर दिया है ।
नेसपा द्वारा निष्कासित किए जाने वाले ये तीनों ही माओवादी केन्द्र से एकता करने में सहमति भरी थी । २०८० चैत ३ गते बालुवाटार में इन तीनों ने पार्टी एकता करने में सहमति की थी । लेकिन पार्टी एकता करने की सहमति में अध्यक्ष भट्टराई सहमत नहीं थे ।
नेसपा ने यादव सहित तीन नेताओं को पार्टी सदस्य से निष्कासित करने की जानकारी निर्वाचन आयोग को दे दिया था । आयोग से उक्त विवरण अद्यावधिक होने की जानकारी आई है । जिसका नेसपा ने विज्ञप्ति निकालकर उल्लेख किया है । नेसपा कार्यालय प्रमुख रोशन पोखरेल ने रविवार को निकाले विज्ञप्ति में यादव सहित अन्य को नेसपा के सदस्य से हटाए जाने का उल्लेख किया है । यादव सहित नेताओं को नेसपा के नाम, चुनाव चिह्न, लोगो और झण्डा का प्रयोग नहीं करने को भी नेसपा ने कहा है ।
इससे पहले माओवादी ने अपने चुनाव चिह्न लेकर गोरखा क्षेत्र नम्बर २ के प्रदेश सभा क्षेत्र १ से निर्वाचित नेपाल समाजवादी पार्टी के नेता समेत रहे प्रदेश सभा सदस्य फणिन्द्र देवकोटा को ’ह्विप उल्लंघन करने’ के कारण कारवाई की थी । माओवादी द्वारा कारवाई करने के बाद देवकोटा पदमुक्त हुए थे । मुख्यमन्त्री सुरेन्द्रराज पाण्डे को विश्वास मत देने के बाद माओवादी ने देवकोटा पर कारवाई की थी ।



About Author

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: