Tue. Nov 19th, 2019

बहस – कैसी होगी राजपा की आगामी यात्रा ?

हिमालिनी, मई अंक २०१८ | एक साल पहले (वैशाख ७, २०७४) मधेशवादी विभिन्न ६ पार्टियाें ने मिलकर राष्ट्रीय जनता पार्टी (राजपा) का गठन किया था । गत वैशाख ७ गते पार्टी ने प्रथम वार्षिकोत्सव भी मनाया । कार्यक्रम में उपस्थित पार्टी सम्बद्ध नेता तथा कार्यकर्ता काफी उत्साहित थे । लेकिन कुछ स्वतन्त्र विश्लेषकों का कहना था कि राजपा को ज्यादा उत्साहित होने की जरूरत नहीं । उसी में से एक थे– विश्लेषक सीके लाल । उन्होंने संक्षेप में दो वाक्य कहा– राजपा अभी पार्टी नहीं बनी है, बनने की प्रक्रिया में है । कार्यक्रम में सहभागी पार्टी सम्बद्ध कुछ नेता–कार्यकर्ताओं का भी यह कहना था कि बिना सांगठनिक स्वरूप प्रदान किए राजपा को पार्टी नहीं कहा जा सकता । उन लोगों को मानना है कि जल्द से जल्द पार्टी–संगठन निर्माण और महाधिवेशन होना चाहिए । ऐसी ही पृष्ठभूमि में कार्यक्रम में उपस्थित हिमालिनी प्रतिनिधि लिलानाथ गौतम और विजय यादव ने राजपा सम्बद्ध कुछ नेताओं से बातचीत की और यह जानने की कोशिश की कि राजपा नेता पार्टीगत उपलब्धि की एक साल की समीक्षा कैसे करेंगे ?, आगामी दिनों की प्राथमिकता क्या होगी और पार्टी कैसे आगे बढ़ेगी ?, राजपा सरकार में शामिल होने की बात भी हो रही है, इसके बारे में क्या खयाल हैं ? मधेश मुद्दा अब किस तरह आगे बढ़या जाएगा ? प्रस्तुत है उक्त सवालों के जवाब का सम्पादित अंश –

नेताओं को सरकार में शामिल होने से रोकेंगे : रञ्जित कुमार सिंह

हिमालिनी,मई अंक ,२०१८ | मधेशी जनता के लिए राष्ट्रीय जनता पार्टी (राजपा) नेपाल निर्माण होना ही सबसे सुखद पक्ष है । ...
Read More

राजपा की उपलब्धि उत्साहजनक : विनिता यादव

हिमालिनी, मई अंक, २०१८ | राजपा नेपाल नई पार्टी है, एक साल के आन्दर पार्टी ने जो उपलब्धि हासिल की ...
Read More

राजपा को राष्ट्रीय पार्टी बनाने की जरुरत : डा. सुरेन्द्र कुमार झा

हिमालिनी, मई अंक, २०१८ | आज हम लोग जहां हैं, उस को देखकर ज्यादा उत्साहित होने की जरूरत नहीं है । ...
Read More

हमारी मान्यता के अनुसार संविधान संशोधन करवाना है : शरतसिंह भण्डारी

हिमालिनी, मई अंक, २०१८ | राजपा के पास अवसर और चुनौती दोनों है । आज हमारे सामने मधेशी जनता को विश्वास ...
Read More

सत्ता के लिए राजपा ने केपी ओली को वोट नहीं दिया है : अनिल झा,

हिमालिनी, मई अंक , २०१८ | विभिन्न ६ राजनीतिक दल इकठ्ठा होकर राष्ट्रीय जनता पार्टी (राजपा) का निर्माण हुआ है । ...
Read More

संशोधन अपरिहार्य है, जिससे की देश और राज्य भी हमारा हो सके : मनिष सुमन

हिमालिनी, मई अंक ,२०१८ | आज के लिए राजपा की प्रथम प्राथमिकता तो संविधान संशोधन ही है । इसके लिए हम ...
Read More

राष्ट्रीय राजनीति में राजपा का मुख्य एजण्डा ही संविधान का संशोधन है : जीतेन्द्र सोनल

हिमालिनी, मई अंक, २०१८ | एक वर्ष का मूल्यांकन अत्यन्त सकारात्मक है । राजपा गठन के बाद हम लोगों ने मुख्यतः ...
Read More

संघर्ष का विकल्प नहींं है : केशव झा

हिमालिनी, मई अंक, २०१८ | जिस समय राजपा पार्टी निर्माण हो रही थी, उस समय हम लोग संघर्ष में ही ...
Read More

मांग सम्बोधन किए बिना सरकार में शामिल नहीं होंगे : राजेन्द्र महतो

हिमालिनी, मई अंक २०१८ | आज राजपा के सामने मुख्यतः दो कार्यनीति है । प्रमुख कार्यनीति शक्तिशाली संगठन का निर्माण करना ...
Read More

 

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *