Tue. Jan 28th, 2020

करेले के सेवन से डायबिटीज ही नहीं कैंसर का खतरा भी होता है कम

बहुत से लोग करेले की सब्जी या भरवां करेला खाना या फिर करेले का जूस लेना पसंद नहीं करते हैं। कारण, करेले की कड़वाहट उन्हें पसंद नहीं आती है। करेले की कड़वाहट भले ही आपको नापसंद हो, लेकिन यह आपकी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। यह कहना है अमेरिकी वैज्ञानिकों का।वैज्ञानिकों के अनुसार अभी तक लोग केवल स्वाद के लिए या डायबिटीज दूर करने के लिए इसका सेवन करते थे। हाल ही में अमेरिका की सेंटलुईस यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध से पता चला है कि करेले के सेवन से न केवल डायबिटीज दूर करने में मदद मिलती है, बल्कि इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व कैंसर से बचाव में भी सहायक हैं।

कैंसर दूर करता है करेला

करेले में पाए जाने वाले गैलिक एसिड व क्लोरोजेनिक सेल्स को डैमेज होने से रोकते हैं। ये एसिड्स विभिन्न प्रकार के कैंसर होने की संभावना को कम करते हैं। यही नहीं करेले में मौजूद अन्य रसायनिक तत्व कैंसरयुक्त कोशिकाओं को ग्लूकोज का इस्तेमाल करने से रोकते हैं। कारण, इससे इन कोशिकाओं को ऊर्जा मिलती है। ग्लूकोज की आपूर्ति बंद होने की वजह से कैंसर युक्त कोशिकाएं समाप्त लगती हैं। इसलिए अपने खानपान में करेले को अवश्य शामिल करें।

वजन कम करता है करेला 

शोधकर्ताओं के अनुसार करेले में विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट्स व एसिड्स पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने व इम्यून सिस्टम मजबूत करने का काम करते हैं।वैज्ञानिकों का कहना है कि करेले में विटामिन A और C के साथ ही इसमें फोलेट, पोटैशियम, फाइबर, कॉ‌र्ब्स, जिंक, आयरन आदि पोषक तत्व भी पाए जाते हैं, जो शरीर को स्वस्थ रखने के साथ ही आंखों की रोशनी बढ़ाने का भी काम करते हैं। करेले के सेवन से वजन कम करने में भी मदद मिलती है। यह हड्डियों को मजबूत बनाने के अलावा घावों के भरने में भी मदद करता है साथ ही शारीरिक विकास में भी प्रमुख भूमिका निभाता है।

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: