Fri. Nov 8th, 2019

कुटनीतिक तवर से नेपाल–भारत सीमा विवाद समाधान करनी चाहिएः खनाल

काठमांडू, ८ नवम्बर । नेपाल कम्युनिष्ट पार्टी (नेकपा) के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व प्रधानमन्त्री झलनाथ खनाल ने कहा है कि नेपाल–भारत बीच जो भी सीमा विवाद है, उसको कुटनीतिक तवर से हल करनी चाहिए । भारत द्वारा सार्वजनिक नयां नक्सा संबंधी विवाद को लेकर एक प्रेस विज्ञप्ति प्रकाशित करते हुए उन्होंने ऐसा कहा है । सरकार से आग्रह करते हुए पूर्व प्रधानमन्त्री खनाल ने कहा है कि नेपाल की सार्वभौमसत्ता और खखण्डता रक्षा करने की जिम्मेदारी सरकार की है ।
जारी प्रेस विज्ञप्ति में खनाल ने कहा है– ‘नेपाल की पश्चिमोत्तर सीमा सुगौली संधी से ही निर्धारित है । उक्त सीमा में फेरबदल करने की अधिकार किसी को भी नहीं है । नेपाल की सीमा संबंध में स्पष्ट उल्लेख है कि महाकाली नदी ही नेपाल–भारत सीमा है । और महाकाली नदी वही है, जो लिम्पियाधुरा से बहनेवाली (कुटी याङ्दी) है । उसे पूर्वी दिशा में रहे नापी, गुंजी और लिपुलेक आदि भू–भाग नेपाली है ।’

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *