Thu. Dec 12th, 2019

अलोकप्रिय होने के बाद भी मैं देश को मुश्किल में नहीं डालूंगाः अर्थमन्त्री खतिवडा

  • 5
    Shares

१७ नवम्बर, काठमांडू । अर्थमन्त्री डा. युवराज खतिवडा ने बताया कि मैं अलोकप्रिय होने के बाद भी देश को मुश्किल में डालकर अर्थतन्त्र में असर पडने वाला कोई काम नहीं करुंगा । उन्होंने बताया कि राजश्व संकलन अगर नहीं बढाऊंगा तो खर्च सन्चालन के लिये ऋण लेना पडेगा जो दीर्घकालीन रुप में जोखिमपूर्ण है ।
आठवें राष्ट्रिय कर दिवस के अवसर पर रविवार आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधन करते हुये खतिवडा ने बताया कि परिवर्तित राजनीतिक परिदृष्य में कुछ नया तथा कठिन होना स्वाभाविक है ।
उन्होंने बताया कि कर का दायरा बढाकर अर्थमन्त्री अलोकप्रिय जरुर हो गया है । परिवर्तित परिदृष्य में कुछ असहज तथा कठिनाईयां तो जरुर आती है । परन्तु अब सरकार अंधेरा से उजाला के तरफ बढ रही है । लम्बे समय से अंधेरा में रहने के कारण कुछ कठिनाईयां तो आयेगी ही न ।
अर्थमन्त्री डा. युवराज खतिवडा ने कहा इस वर्ष तो अवसर है पर अगले वर्ष क्या होगा यह नहीं बता सकता ।
उन्होंने उल्लेख करते हुये कहा कि अभी राजस्व से बहुत सारे सार्वजनिक खर्च चुकाया जायेगा या ऋण लिया जायेगा इस विषय पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है ।

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: