Sun. May 31st, 2020

जब भी तनहाई मिली हम अपने ग़म पे रो लियेमहफिलों में तो सदा हंसते रहे गाते रहे : अनवर जलालपुरी

अनवर जलालपुरी ऐसी दुनिया का ख़्वाब देखते थे, जिसमें ज़ुल्म और दहशत की जगह न हो

अनवर जलालपुरी वही शख्स हैं, जिन्होंने श्रीमद भगवद् गीता का उर्दू में अनुवाद किया है. इसके अलावा उन्होंने ‘उर्दू शायरी में गीता’ के नाम से एक किताब भी लिखी है, जिसमें 700 शास्त्रीय संस्कृत श्लोकों का उर्दू में अनुवाद है.

अनवर जलालपुरी शेरो-शायरी की दुनिया का जाना-माना नाम हैं. उन्हें साल 2015 में उत्तर प्रदेश के यश भारती सम्मान से नवाजा गया था.जलालपुर की सरहदों को चीर कर भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में फैली और लोगों के दिल और दिमाग को महकाया. वो गुलाब कोई और नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त शायर और मशहूर संचालक अनवर जलालपुरी हैं.

यह भी पढें   नज़रिया बदलिए नज़ारा बदलेगा

Image result for अनवर जलालपुरी

उम्र भर जुल्फ-ए-मसाऐल यूँ ही सुलझाते रहे
दुसरों के वास्ते हम खुद को उलझाते रहे

हादसे उनके करीब आकर पलट जाते रहे
अपनी चादर देखकर जो पाँव फैलाते रहे

जब सबक़ सीखा तो सीखा दुश्मनों की बज़्म से
दोस्तों में रहके अपने दिल को बहलाते रहे

मुस्तक़िल चलते रहे जो मंज़िलों से जा मिले
हम नजूमी ही को अपना हाथ दिखलाते रहे

बा अमल लोगों ने मुस्तक़बिल को रौशन कर लिया
और हम माज़ी के क़िस्से रोज़ दोहराते रहे

जब भी तनहाई मिली हम अपने ग़म पे रो लिये
महफिलों में तो सदा हंसते रहे गाते रहे

ख्वाहिश मुझे जीने की ज़ियादा भी नहीं है
वैसे अभी मरने का इरादा भी नहीं है

हर चेहरा किसी नक्श के मानिन्द उभर जाए
ये दिल का वरक़ इतना तो सादा भी नहीं है

वह शख़्स मेरा साथ न दे पाऐगा जिसका
दिल साफ नहीं ज़ेहन कुशादा भी नहीं है

जलता है चेरागों में लहू उनकी रगों का
जिस्मों पे कोई जिनके लेबादा भी नहीं है

घबरा के नहीं इस लिए मैं लौट पड़ा हूँ
आगे कोई मंज़िल कोई जादा भी नहीं

रात भर इन बन्द आँखों से भी क्या क्या देखना
देखना एक ख़्वाब और वह भी अधूरा देखना

कुछ दिनों से एक अजब मामूल इन आँखों 
कुछ आये या न आये फिर भी रस्ता देखना

ढूंढ़ना गुलशन के फूलों में उसी की शक्ल को
चाँद के आईने में उसका ही चेहरा देखना

खुद ही तन्हाई में करना ख्वाहिशों से गुफ्तगू
और अरमानों की बरबादी को तन्हा देखना

तशनगी की कौन सी मन्ज़िल है ये परवरदिगार
शाम ही से ख़्वाब में हर रोज़ दरिया देखना

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: