Thu. Nov 21st, 2019

संयुक्त राष्ट्र संघ को आंतक से लड़ने के लिए विश्व सम्मेलन कराने का ज्ञापन

काठमाण्डौ (नेपाल) नेपाल सरकार के प्रथम राष्ट्रपति न्यायमूर्ति परमानन्द झा के विशिष्ट सलाहकार महावीर प्रसाद टोरडी ने अन्तर्राष्ट्रीय समरसता मंच की ओर से संयुक्त राष्ट्र संघ महा सचिव अन्तोनिया गुंजारिस को विश्व बधुत्व एकामहे के लिए ज्ञापन प्रेषित करते हुये कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ को आंतक से लडाई के लिए विश्व सम्मेलन करना चाहिये | वर्तमान में वैश्विक समस्याऐं आंतकवाद, साम्प्रदाय, संघर्ष वर्ग विद्वेष और इनसे समुत्पन्न भावना तथा संकीर्ण मनोवर्ती के कारण तृतीय विश्व युद्ध की सम्भावना पर नियंत्रण हेतु, दुनिया भर में प्रार्थना स्थलों पर आंतकी हमलों में सैकडों लोगों की जान गई है | संयुक्त राष्ट्र संघ को विश्व शान्ति स्थापना के लिए वं आंतक से लड़ाई के लिए विश्व सम्मेलन का आयोजन कर विश्व कल्याण की भावना के लिए भावात्मक एकता का संदेश वाहक संयुक्त राष्ट्र संघ को बनना चाहिए।
ज्ञापन मैं टोरडी ने बताया की आंतक से लडाई के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ को वैश्विक योजना बनानी चाहिए आंतकी रोजगार के साधन और लोगों की जिंदगिया ही बर्बाद नहीं करते वे समाज को छिन्न-भिन्न और देश को अस्थिर भी करते है। अन्र्तराष्ट्रीय समुदाय कों राजनीतिक इच्छा शान्ति दिखाने की जरूरत है। टोरडी ने संयुक्त राष्ट्र संघ महासचिव अन्तोनिया गुंजारिस को ज्ञापन मैं बताया कि भारत ने आंतक से लडाई के लिए सन् 1986 मैं व्यापक सम्मेलन का मसौदा UNOको प्रेषित किया था। लेकिन यह एक दुर्भाग्य है। कि इस मसौदा को आज तक मंजूरी नहीं मिली जिसके कारण सदस्य देशो के बीच आंतक की परिभाषा पर एक राय नहीं थी।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *