Tue. Oct 22nd, 2019

हल्दी, कैंसर और मधुमेह में कारगर औषधि

अदरक के परिवार का एक सदस्य है हल्दी (Turmeric)। पीले रंग का यह मसाला हर  रसोईघर, दक्षिणपूर्व एशिया और मध्य पूर्व एशिया में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। भारत जैसी जगह पर सदियों से इसका प्रयोग एक दवा के रूप में होता हो आ रहा है, विशेषकर सांस संबंधी समस्याओं में। हालांकि बाद में हल्दी को एक सुपरफूड का दर्जा दे दिया गया है, जो कैंसर, तनाव और अन्य रोगों से लड़ने में मदद कर सकता है। अगर आप भी सोच रहे हैं कि क्या वाकई में हल्दी हमारी स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याओं को दूर कर सकती है तो हम आपको बताने जा रहे हैं, जी हां, ऐसा बिल्कुल सही है। हल्दी न केवल सुंदरता को बढ़ाने बल्कि ढेरों रोगों को हमारे शरीर से बाहर करने में मदद करती है।

टाइप-2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes)

हल्दी में पाया जाने वाला तत्व करक्यूमिन सूजन से लड़ने और ब्लड शुगर स्तर को स्थिर रखने में मदद कर सकता है और ये टाइप-2 डायबिटीज के उपचार और उसे रोकने में भी फायदेमंद है। प्रीडायबिटीज से पीड़ित 240 व्यस्कों पर किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि 9 महीने तक हल्दी का सेवन करने से डायबिटीज के विकसित होने का खतरा कम हो जाता है। हालांकि शोध जारी है और बहुत से अध्ययन जानवरों पर पहले से ही किए जा चुके हैं। फिलहाल अभी इंसानों पर इसका अध्ययन चल रहा है।
तनाव (Depression)

हल्दी में ऐसे कई तत्व पाएं जाते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। इसमें सबसे ज्यादा जाना-माना तत्व है करक्यूमिन। वैज्ञानिक तनाव को कम करने की करक्यूमिन की क्षमता को लेकर उत्साहित हैं और यह अवसादरोधी को बेहतर काम करने में मदद कर सकता है। लेकिन अभी तक इसके नतीजे मिले-जुले हैं।

वायरल संक्रमण (Viral Infections)

अगली बार जब मौसम बदल रहा हो तो आपको हल्दी की चाय पीनी चाहिए। करक्यूमिन फ्लू जैसे अलग-अलग प्रकार के वायरस से लड़ने में आपकी मदद कर सकता है। हालांकि इस बात को ध्यान में रखना बेहद जरूरी है कि हल्दी में केवल 3 फीसदी है करक्यूमिन होता है और आपका शरीर करक्यूमिन को सही तरीके से अवशोषित नहीं कर पाता। इसलिए कभी-कभार हल्दी की चाय आपको हमेशा सुरक्षित नहीं रख सकती।

हाई कोलेस्ट्रोल (High Cholesterol)

आपके ह्रदय को स्वस्थ रखने की हल्दी की क्षमता पर हुए शोध मिले-जुले हैं। कुछ अध्ययनों में पाया गया है कि हल्दी आपके शरीर में मौजूद खराब ‘एलडीएल’ कोलेस्ट्रोल को कम कर सकता है जबकि अन्य का मानना है कि इस मसाले का कोई प्रभाव नहीं है। वैज्ञानिक हल्दी के ह्रदय सुरक्षा संभावनाओं पर अभी भी अध्ययन कर रहे हैं। एक छोटे अध्ययन में पाया गया कि जिन लोगों की बाईपास सर्जरी हुई है उन लोगों में हल्दी हार्ट अटैक को रोक सकती है।

कैंसर (Cancer)

लैब और जानवरों पर किए अध्ययनों में पाया गया है कि हल्दी ट्यूमर सेल के विकास को रोक सकती है, डिटॉक्सिफाई करने वाले एंजाइम को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करती। हालांकि इस अध्ययन से इंसानी शरीर पर होने वाले प्रभावों के बारे में नहीं बताया गया है। इसके अलावा संभावना है कि हल्दी कुछ प्रकार की कीमोथेरेपी दवाओं से ज्यादा तेजी से काम कर सकती है।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *