Mon. May 25th, 2020

प्रदेश नं. ३ः राजधानी विवाद जटिल अवस्था में, शीर्ष नेताओं के विरुद्ध प्रदेश सांसद्

  • 1
    Share

काठमांडू, ६ जनवरी । सत्ताधारी दल नेपाल कम्युनिष्ट पार्टी (नेकपा) के दो शीर्ष नेता केपीशर्मा ओली और पुष्पकमल दाहाल प्रचण्ड ने कुछ दिन पहले निर्णय किया प्रदेश नं. ३ की राजधानी हेटौडा और प्रदेश का नाम बागमती होगी । यही सर्कुलर प्रदेश सांसदों की गई । लेकिन प्रदेश के अन्दर केन्द्र हावी हो गई है, कहते हुए प्रदेश सांसद् शीर्ष नेतृत्व के विरुद्ध बोलने लगे ।
विशेषतः प्रदेश राजधानी के सवाल में अधिकांश प्रदेश सांसदों में असन्तुष्टियां दिखाई दी है । यहां तक की ३ नम्बर प्रदेश से निर्वाचित केन्द्रीय सांसद् भी दो शीर्ष नेताओं की निर्णय के विरुद्ध दिखाई दे रहे है, जिसके चलते यह मुद्दा नेकपा के अन्दर जटिलता पैदा कर रही है । नेताओं प्रदेश का नाम ‘बागमती’ स्वीकार किया है, लेकिन राजधानी हेटौडा बनाने के लिए अस्वीकार किया है । नेताओं का मानना है कि भौगोलिक समदुरी की हिसाब से हेटौडा अनुपयुक्त क्षेत्र है ।
राजधानी विवाद को लेकर ही सोमबार नेकपा ने केन्द्रीय सदस्य एवं प्रदेश सांसदों की बैठक आह्वान की है । नेताओं को मानना है कि बैठक से उपर्युक्त समाधान ली जाएगी ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: