Thu. Feb 20th, 2020

नरेन्द्र मोदी और इमरान खान काठमांडू में आमने–सामने ?!

  • 1.3K
    Shares

काठमांडू, २५ जनवरी । दुनियां को पता है कि भारत और पाकिस्तान के बीच आपसी संबंध मित्रवत नहीं है । सार्वजनिक गतिविधि देखनेवलों को भी लगता है कि दोनों देशों के सरकार प्रमुख आपस में मिलने के लिए भी अनिच्छुक रहते हैं । ऐसी ही पृष्ठभूमि में भारत के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री इमरान खान काठमांडू में आमने–सामने होने की सम्भावना दिखाई दी है ।
आगामी चैत्र २०–२२ गते काठमांडू में ‘सगरमाथा संवाद’ हो रहा है । सम्मेलन आयोजक राष्ट्र नेपाल हैं । उक्त सम्मेलन में सहभागिता के लिए नेपाल ने पड़ोसी देश, दक्षिण एसियाली सम्पूर्ण राष्ट्र, विमिस्टेक, जलवायु परिवर्तन से प्रभावित अन्य पर्वतीय देश, सामुद्रिक टापू से निर्मित देशों के प्रतिनिधियों को आमन्त्रण किया है । अनुमान है कि उक्त सम्मेलन में भारत और पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री भी सहभागी होंगे । यद्यपि भारत और पाकिस्ता दोनों देशों के प्रधानमन्त्रियों की उपस्थिति फाइनल नहीं हुई है ।
परराष्ट्रमन्त्री प्रदीप ज्ञावली ने अन्तर्राष्ट्रीय सञ्चार माध्यम से आवद्ध पत्रकारों को बुलाकार कहा है कि भारतीय प्रधानमन्त्री और पाकिस्तानी प्रधानमन्त्री को भी सम्मेलन में सहभागिता के लिए निमन्त्रणा भेज दी गई है, लेकिन जवाफ नहीं आया है । भारतीय संचार माध्यम की ओर से भी टिप्पणियां हो रही है कि उक्त सम्मेलन में भारत और पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री सहभागी होंगे और आपसी बातचीत होने की सम्भावना है । यह भी कहा गया है कि जो दक्षिण एसियाई राजनीतिक और कुटनीतिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण रहनेवाली है । स्मरणीय है, विश्वस्तरीय ‘सगरमाथा संवाद’ पहली बार नेपाल में हो रहा है, जो हर दो साल में आयोजन करने की योजना है ।
प्रथम सम्मेलन के लिए ‘जलवायु परिवर्तन, पर्वतीय वातावरण और मानव जाति की भविष्य’ शीर्षक में विषयवस्तु तय की गई है । सम्मेलन के खातिर परराष्ट्रमन्त्री प्रदीप ज्ञावली के संयोजकत्व में २० सदस्यीय सगरमाथा संवाद आयोजक समिति गठन की गई है ।

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: