Thu. Apr 9th, 2020

पूर्व डीएसपी राजकुमार खिवजू पर याैनदुर्व्यवहार का आराेप

  • 28
    Shares

उप पुलिस अधीक्षक (DSP) राजकुमार खिवजू, जो स्वेच्छा से नेपाल पुलिस से सेवानिवृत्त हुए हैं, उन पर यौन दुराचार का आरोप लगाया गया है।

संघीय पुलिस यूनिट कार्यालय धरान के सौरभ राणा ने हाल ही में बलात्कार के आरोप में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया है। उसकी जांच करते हुए, ललितपुर महाकाल की एक 23 वर्षीय लड़की ने खिवजू पर बलात्कार का आरोप लगाया गया है।

पीड़िता ने इस बारे में पुलिस मुख्यालय पूछताछ शाखा को सूचित किया है।

यह भी पढें   काेराेना वायरस संक्रमण रोकने में कारगर हो सकती है नई वैक्सीन, चूहे पर परीक्षण सफल

पीड़िता का दावा है कि उसे पुलिस रिपोर्ट बनाने के बहाने  ३० मंसिर को महानगर पुलिस सर्किल, चापगाँव में  परिसर में सहायता के बहाने अकेले बुलाकर मजबूर किया गया था। पीड़िता ने कहा, ” चाय पीने के बहाने दरवाजा बंद कर अकेलेपन का फायदा उठाकर मेरे साथ दुर्व्यवहार किया, ” और मुझे जान से मारने की धमकी दी। ”

पीड़िता ने पहले गलत काम की तस्वीरें लेकर खुद को ‘ब्लैकमेल’ करने का दावा किया। वह कहती है कि खिवजू ने छह महीने तक उसका शारीरिक शोषण किया।

यह भी पढें   अमेरिका मे कोरोना महामारी कहर, एक दिन में दाे हजार राेगियाें की माैत

उन्होंने शिकायत की कि जब  काठमांडू पुलिस परिसर में शिकायत करने के लिए पहुंची तो भी उन्हें मदद नहीं मिली। उन्होंने यह भी दावा किया कि डीएसपी ख्वाजू ने उन पर एक व्यक्ति के माध्यम से मिलने का दबाव बनाया था।

उन्होंने कहा कि वह प्रशासन से कोई मदद नहीं मिलने के बाद केंद्रीय मानवाधिकार मंच पर पहुंची। नेपाल पुलिस के प्रवक्ता शैलेश थापा छेत्री ने कहा कि खिजू संगठन के संपर्क में नहीं है। पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) थापा ने कहा, “उन्होंने डेढ़ महीने पहले इस्तीफा दे दिया था। वह अब हमारे संपर्क में नहीं हैं।”

यह भी पढें   काठमांडू में फसे विद्यार्थियों के लिए भी राहत आवश्यकः नेविसंघ
Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: