Wed. Apr 8th, 2020

बाढ़ और भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 90

काठमांडू १८ जुलाई

पिछले एक हफ्ते से लगातार हो रही बारिश से बाढ़ और भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 90 हो गई है।  गृह मंत्रालय के मुताबिक लगभग 31 लोग अब भी लापता हैं। देशभर में 3 हजार 366 लोगों को बचाया गया है। डेटा संग्रहण और राहत बचाव कार्य पूरे जोरों पर है।

11 जुलाई से हो रही मूसलाधार बारिश ने 70 जिलों में से 31 को बुरी तरह से प्रभावित किया है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार 27 हजार पुलिस कर्मियों, 8 हजार सेना के जवानों और 8150 सशस्त्र पुलिस बल (एपीएफ) के जवानों को बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लगाया गया है।

यह भी पढें   संकटपूर्ण अवस्था राजनीतिक विवाद घातक हो सकता हैः पूर्व राजा शाह

बाढ़ प्रभावित रौतहट, धनुशा, महोत्री, और डोलपा जिलों में राहत और बचाव कार्य चल रहा है। किसी भी घटना से निपटने के लिए हेलिकॉप्टरों को काठमांडू, इटाहारी और धनुशा में स्टैंडबाय पर रखा गया है। ललितपुर, भोजपुर और रौतहट में सबसे ज्यादा लोगों की मौत हुईं है। इसके अलावा स्वच्छता की कमी से महामारी के बढ़ने की आशंका भी बढ़ गई है।

इस बीच  सरकार ने विदेशी सहायता नहीं लेने का फैसला किया है। इसके बजाय स्थानीय निकायों को राहत और बचाव कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढें   सुदूरपश्चिम में कोरोना परीक्षण व्यापक बनाने के लिए देउवा ने किया मुख्यमन्त्री से अनुरोध
Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: