Sat. Oct 19th, 2019

विश्व विद्यालय में दलीय भागबण्डा के कारण शैक्षिक गुणस्तर कमजोरः नेता केसी

काठमांडू, १३ सितम्बर । नेपाली कांग्रेस के नेता अर्जुनरसिंह केसी ने कहा है कि विश्वविद्यालय में दलीय भागबण्डा और हस्तक्षेप चरमसीमा पर है, जो शैक्षिक गुणस्तर कमजोर होने का प्रमुख कारण है । नेपाल विद्यार्थी संघ त्रिभुवन विश्वविद्यालय समिति द्वारा बिहीबार आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधन करते हुए उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय प्राज्ञिक स्थल है, जहाँ दलीय भागबण्डा अस्वीकार होना चाहिए ।
नेता केसी का आरोप है कि वर्तमान सरकार बौद्धिक व्यक्तित्व को अपना दुश्मन मानती है, इसीलिए विश्व विद्यालय में दलीय भागबण्डा चरमसीमा पर पहुँच चुकी है । उनका कहना है कि वि.सं. २०६२–६३ साल से विशवविद्यालय में दलीय हस्तक्षेप तीव्र बनती जा रही है । उन्होंने कहा कि जब तक विश्वविद्यालय में दलीय भागबण्डा समाप्त नहीं होगी, तब तक शैक्षिक गुणस्तर में सुधार आनेवाला भी नहीं है ।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *