Wed. Jan 22nd, 2020

साहित्यकार राजकुमार जैन राजन की कृति को मिला सम्मान

  • 8
    Shares

काव्य संग्रह “खोजना होगा अमृत कलश” के लिए राजन को मिला सम्मान

बारां : राजस्थान साहित्य अकादमी, उदयपुर के सौजन्य से युवा मंडल संस्थान, बारां की ओर से 4 – 5 जनवरी को आयोजित दो दिवसीय अखिल भारतीय साहित्यकार  समारोह में उत्कृष्ठ साहित्यिक कृतियों के रचनाकारों को  सम्मानित किया गया ।इस अवसर पर आकोला ( राजस्थान ) के ख्यातनाम साहित्यकार राजकुमार जैन राजन को उनके कविता संग्रह ” खोजना होगा अमृत कलश” के लिए मंचस्थ अतिथियों द्वारा “श्रीमती कमलादेवी स्मृति सम्मान” से विभूषित किया गया । सम्मान स्वरूप प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह एवम नगद राशि प्रदान की गई। समारोह की अध्यक्षता प्रसिद्ध साहित्यकार, चिंतक वृंदावन से पधारे डॉ. उमेश चंद्र शर्मा ने की। प्रसिद्ध शिक्षाविद व साहित्यकार श्री नरेन्द्रनाथ चतुर्वेदी RAS एवम वरिष्ठ साहित्यकार श्री जितेंद्र निर्मोही, जिला प्रेस क्लब अध्यक्ष श्री दिलीप शाह विशिष्ट अतिथियों के रूप के उपस्थित थे। संयोजन जितेंद्र शर्मा पम्मी  ने किया।
   “खोजना होगा अमृत कलश” पंजाबी, गुजराती, असमिया, मराठी सहित नेपाल से नेपाली, श्रीलंका से “सिंहली” एवम चीन से “चीनी” भाषा मे भी अनुदित होकर प्रकाशित हो चुकी है। इस कविता संग्रह ने राजकुमार जैन राजन को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलवाई है। इस कृति पर राजन को यह पांचवा सम्मान मिला है।
   ज्ञातव्य है कि राजकुमार जैन राजन की अब तक 40 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी है और कई पुस्तकों का विभिन्न भाषाओं के देश – विदेश में अनुदित संस्करण प्रकाशित हो चुके हैं। आप कई पत्रिकाओं के संपादन से जुड़े हुए हैं और नए  हिंदी लेखकों  को पूरा प्रोत्साहन दे रहे हैं। उत्कृष्ट लेखन करने वाले रचनाकारों को प्रतिवर्ष आप द्वारा भव्य आयोजन कर सम्मानित किया जाता है। बालकों में पठन – पाठन की रुचि जागृत करने के लिए निःशुल्क बाल साहित्य वितरण किया जा रहा है जिसके तहत अब तक आठ लाख रुपये मूल्य का हिन्दी बाल साहित्य वितरित किया जा चुका है।
   इस आयोजन में कुंजबिहारी नागर, डॉ. कृपाशंकर शर्मा, रामनारायण हलधर, डॉ.सुरेंद्र यादवेंद्र, बाबू बंजारा, गौरिकान्त शर्मा, विनय जोशी, डॉ चेतना उपाध्याय, डॉ क्षमा चतुर्वेदी, विश्वामित्र दाधीच,  जितेंद्र शर्मा पम्मी जैसी ख्यातनाम शख़्शियतें  उपस्थित थी। अंतिम सत्र के अध्यक्ष मण्डल में राजकुमार को मंचस्थ अतिथि के रूप के भी सम्मानित किया गया।
    राजन को “श्रीमती कमलादेवी स्मृति सम्मान” से सम्मानित किए जाने पर साहित्यकारों, जनप्रतिनिधियों व मित्रों ने बधाई देते हुए हर्ष व्यक्त किया है।
Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: