Sun. May 31st, 2020

गुलाब केवल प्यार का इजहार करने का ही माध्यम नहीं, बल्कि यह हमारी सेहत के लिए भी अच्छा है

  • 42
    Shares

वेलेंटाइन वीक की शुरुआत रोज डे से होती है। गुलाब के जरिए युवा अपने पार्टनर को प्रपोज करते हैं, क्योंकि प्रेम का प्रतीक गुलाब किसी के प्रति अपना आकर्षण जाहिर करने का जरिया होता है। रोज डे (Rose Day 2020) पर युवा अपने दिल की बात जाहिर करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि गुलाब केवल प्यार का इजहार करने का ही माध्यम नहीं है, बल्कि यह हमारी सेहत के लिए भी अच्छा है।
आपने गुलाब जल का प्रयोग तो किया ही होगा। पकवानों में स्वाद और चेहरे में निखार लाने से लेकर यह कई तरह के घरेलू नुस्खों में भी काम आता है। गुलाब को लेकर हुई एक रिसर्च में इस बात का पता चला है कि गुलाब हमारी नींद को भी गहरा और बेहतर बनाता है। गुलाब की खुशबू पढ़ने में एकाग्रता बढ़ाने और नींद की गुणवत्ता में सुधार लाने में मददगार साबित होती है।
रिसर्च जर्नल ‘साइंटिफिक रिपोर्ट्स’ में प्रकाशित इस रिसर्च के अनुसार अंग्रेजी सीख रहे दो वर्ग के छात्रों पर यह अध्ययन किया गया। फस्र्ट ऑथर और स्टूडेंट टीचर फ्रांजिस्का न्यूमैन ने शोध के लिए दक्षिणी जर्मनी के एक स्कूल के छठी कक्षा के 54 विद्यार्थियों पर कई प्रयोग किए। एक वर्ग के छात्रों ने गुलाब की खुशबू के साथ अंग्रेजी शब्दावली सीखी, जबकि दूसरे वर्ग के छात्रों ने सामान्यत:।
यूनिवर्सिटी ऑफ फ्रीबर्ग, जर्मनी के रिसर्च हेड जुर्गन कोर्नमीयर के मुताबिक उन्होंने यह साबित किया कि गुलाब की सुगंध रोजमर्रा की जिंदगी में बहुत मजबूती से प्रभाव डालती है और इसे लक्ष्य के अनुसार प्रयोग किया जा सकता है।
छात्रों को अंग्रेजी शब्दावली सीखने के दौरान अपने घर में डेस्क पर गुलाब के सुगंध वाली अगरबत्ती लगाने के लिए कहा गया। साथ ही रात में बिस्तर के बगल में बेडसाइड टेबल पर भी ऐसी अगरबत्ती जलाने को कहा गया।
एक अन्य प्रयोग में स्कूल में अंग्रेजी के टेस्ट के दौरान उन्हें टेबल के नजदीक गुलाब की खुशबू वाली धूप बत्ती लगाने को भी कहा गया। सामान्य छात्रों के रिजल्ट की तुलना में प्रयोग समूह वाले छात्रों के रिजल्ट बेहतर आए।न्यूमैन के मुताबिक जब सोने और सीखने के दौरान गुलाब सुगंध वाली अगरबत्ती का प्रयोग किया गया, तब छात्रों के अच्छे परिणाम आए। …तो आप भी अपनी दिनचर्या में गुलाब की खुशबू वाले अगरबत्ती का प्रयोग करके देखें। हालांकि जिन्हें गुलाब की खुशबू से एलर्जी हो, वे ऐसा न करें।

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: