Tue. Apr 7th, 2020

केंद्रीय हिंदी संस्थान वार्षिक सांस्कृतिक प्रतियोगिता में सबसे अधिक पुरस्कार श्रीलंका की छात्राओं ने जीते।

  • 161
    Shares

 

भारत  केंद्रीय हिंदी संस्थान वार्षिक सांस्कृतिक प्रतियोगिता में श्रीलंका की छात्राओं की रंगोली और थाईलैंड के विद्यार्थियों के गाए हिंदी गीत सबसे ज्यादा पसंद किए गए। प्रतियोगिता में सबसे अधिक पुरस्कार श्रीलंका की छात्राओं ने जीते। अंतरराष्ट्रीय हिंदी शिक्षण विभाग की ओर से आयोजित प्रतियोगिता के पहले दिन मंगलवार को विदेशी छात्र-छात्राओं ने प्रतियोगिता में भाग लिया। उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता प्रो. विद्याशंकर शुक्ल (सेवानिवृत्त) ने की। अंतरराष्ट्रीय हिंदी शिक्षण विभागाध्यक्ष प्रो. उमापति दीक्षित के निर्देशन में कार्यक्रम हुए।

निर्णायक की भूमिका आकाशवाणी के श्रीकृष्ण और डीईआई की डॉ. मनु शर्मा ने निभाई। डॉ. सतवीर सिंह, डॉ. ज्योत्सना रघुवंशी, डॉ. जोगेंद्र सिंह मीणा, अनुपम श्रीवास्तव, डॉ. केजी कपूर आदि मौजूद रहे। 26 को स्वदेशी छात्र-छात्राओं के लिए प्रतियोगिताएं कराई जाएंगी। रंगोली में श्रीलंका की छात्राओं ने प्रथम स्थान प्राप्त किया।

यह भी पढें   नेपाल में कोरोनाः ७वें संक्रमित पोखरा में, जो भारत से आए थे

टीम में भूमिका, निर्माणी, चमाली, अनुष्का, उद्देशिका रहीं। हिंदी समूह गीत में थाइलैंड की टीम (शशिकान, औराथाई, ख्वंजदा, युफिन, अपतचिनिभा) पहले स्थान पर रही। हिंदी एकल नृत्य श्रीलंका की संदुनि और एकल गीत में श्रीलंका की ही जननी ने प्रथम स्थान हासिल किया।
फैंसी ड्रेस में श्रीलंका की लसंति पहले स्थान पर रहीं। समूह तबला वादन में श्रीलंका की चमाली, नेत्मी, अनुराधा की टीम पहले स्थान पर रही। समूह नृत्य में श्रीलंका की छात्राओं की टीम (अश्विनी, कोकिला, जननी, संदुनि, लसंति, संजीवनी, आश्चर्या) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। नाटक मंचन में रक्षिता, मोनिश्ता, एशा, अनुराधा, राजा, दिलशाद का समूह पहले स्थान पर रहा।

यह भी पढें   सरकारी निरिहता दुःखदः वैद्य
Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: