Sat. Aug 15th, 2020

‘सेक्युलर’ भारत की ‘हलाल सर्टिफिकेशन’ व्यवस्था, हिन्दुओं पर लादा गया ‘जजिया कर’ है: रमेश शिंदे,

  • 21
    Shares
नवम ‘अखिल भारतीय हिन्दू राष्ट्र अधिवेशन’ के दूसरे दिन हिन्दुआें पर हो रहे आघातों संबंधी विचारमंथन !
 

‘सेक्युलर’ भारत की ‘हलाल सर्टिफिकेशन’ व्यवस्था, हिन्दुओं पर लादा गया

‘जजिया कर’ ही है ! – श्री. रमेश शिंदे, राष्ट्रीय प्रवक्ता, हिन्दू जनजागृति समिति 

जिले का नाम  जोमैटो’ के मुसलमान डिलिवरी बॉय से पार्सल स्वीकारने का विरोध करनेवाले हिन्दू ग्राहक पर ‘भोजन का धर्म नहीं होता’ऐसा कहकर कानूनी कार्रवाई की मांग सेक्युलरवादियों ने कीपरंतु आज भारत में मांसाहार ही नहींअनेक शाकाहारी पदार्थसौंदर्य प्रसाधनऔषधियांचिकित्सालयगृहसंकुलडेटिंग साईट आदि हेतु इस्लामी कानूनों के अनुसार ‘हलाल सर्टिफिकेट’ की व्यवस्था लागू है । इससे इस्लामी संस्थाआें को हजारों करोड रुपए मिलते हैं । वास्तव में ‘सेक्युलर’ भारत में इस्लामी आर्थिकनीति को बढावा देनेवाली ‘हलाल सर्टिफिकेट’ की व्यवस्था 80 प्रतिशत हिन्दुआें पर लादा गया ‘जजिया कर’ ही है और उसे निरस्त करने हेतु हिन्दुआें को संगठित होना चाहिएऐसा प्रतिपादन हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रीरमेश शिंदे ने किया । वे ‘नवम अखिल भारतीय हिन्दू राष्ट्र अधिवेशन’ के दूसरे दिन ‘हलाल सर्टिफिकेट के माध्यम से भारत में आर्थिक जिहाद’ इस विषय पर बोल रहे थे ।

यह अधिवेशन 30 जुलाई से अगस्त और से अगस्त 2020 की अवधि में सायं. 6.30 से 8.30 के बीच ‘ऑनलाइन’ हो रहा है । समिति के ‘यूट्यूब’ चैनल और फेसबुक पर अधिवेशन का सीधा प्रसारण 68 हजार से अधिक लोगों ने देखाजबकि 3 लाख 45 हजार से अधिक लोगों तक यह विषय पहुंचा ।

यह भी पढें   भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत स्थिर, बेटे ने ट्वीट कर दी जानकारी

इस अधिवेशन में तमिलनाडु स्थित हिन्दू मक्कल कत्छी के संस्थापक अध्यक्ष श्रीअर्जुन संपथ ने कहा, ‘कोरोना वाहक’ की भूमिका निभानेवाले तब्लीगी जमात के देहली में हुए कार्यक्रम में तमिलनाडु के 2,500 से अधिक लोग सहभागी हुए थे । उनके राज्य में लौटने पर उनपर कार्रवाई करने की अपेक्षा उन्हें अनेक चिकित्सा सुविधाएं दी गई । ठीक होने पर प्रशासकीय अधिकारियों ने उनका स्वागत किया । उनमें कुरान का वितरण किया गया । इसके विपरीत इस समय हिन्दुआें को चिकित्सा सुविधाएं देने में भेदभाव किया जा रहा है ।’ 

तमिलनाडु के शिवसेना राज्यप्रमुख जीराधाकृष्णन् ने इस समय कहा, ‘पेरियार तथा द्रमुक कार्यकर्ताआें ने भाषण की स्वतंत्रता के नाम पर हिन्दू धर्मपरंपरासंस्कृतिस्तोत्र तथा ब्राह्मण समाज को अपमानित कर हिन्दूद्वेष को बढावा दिया । पेरियार की मूर्ति पर रंग डालनेवाले हिन्दू कार्यकर्ता पर कार्रवाई की जाती हैपरंतु इन हिन्दू विरोधियों पर नहीं की जाती । जहां धर्म पर आघात होंगेवहां हम सडकर पर उतरेंगेकानूनी लडाई भी लडेंगे ।’

यह भी पढें   अध्यागमन विभाग का एक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव

पाकिस्तान में रहनेवाले सहस्र से अधिक हिन्दुआें को भारत की नागरिकता दिलानेवाले ‘निमित्तेकम’ संस्था के अध्यक्ष श्रीजय आहूजा ने इस समय कहाआज पाकिस्तान में बचे शेष 70 लाख हिन्दुआें का वंशविच्छेद करने का काम ‘रियासतमदीना’ अर्थात ‘काफिरमुक्त भूमि’ की संकल्पना के अंतर्गत वहां की इमरान खान सरकार कर रही है । प्रतिदिन हिन्दू लडकियों का बलपूर्वक अपहरणनिकाहआगे उन्हें वेश्या व्यवसाय में धकेलकर उनका शोषण किया जाता है । कोरोना महामारी के समय दिहाडी पर काम करनेवाले 1,600 हिन्दुआें को भोजन के पैकेट देने के बदले उनका धर्मांतरण किया गया । 

यह भी पढें   15 अगस्त पर माँ की आश : नीरज त्यागी

पाकिस्तानी हिन्दुआें के लिए कार्य करनेवाली श्रीमती मीनाक्षी शरण ने कहा, ‘पाक के पीडित हिन्दू भारत में आश्रय लेते हैंउन्होंने अत्याचार सहन किएपरंतु धर्म नहीं बदला । वे सच्चे निष्ठावान हिन्दू हैंपरंतु भारत के मुख्य प्रवाह में वे अभी तक समाहित नहीं हुए । उनकी कला और कुशलता देखकर उन्हें काम दिलाना होगा । 

‘प्रज्ञता’ संस्था के सहसंस्थापक श्रीआशिष धर ने कहा, ‘हम राष्ट्रधर्म पर हो रहे आघातों के विषय में जानकारी पहुंचाने के उद्देश्य से वीडियो बनाकर उसे प्रसारित करते हैं । विस्थापित कश्मीरी पंडितराम मंदिर निर्माणबांग्लादेशी हिन्दुआें की व्यथा आदि अनेक विषयों पर वीडियो के कारण बडी मात्रा में जनजागरण हुआ है ।

Ramesh_Shinde : हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री. रमेश शिंदे
Meenakshi_Sharan : भारत में शरणार्थी पाकिस्तानी हिन्दुआें के लिए कार्य करनेवालीं तथा लेखिका श्रीमती मीनाक्षी शरण

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: