Thu. Jan 23rd, 2020

बोलोजी भैया, जय जानकी राम बोलोजी भैया, जय जानकी राम : आभास लाभ (सुनिए शानदार प्रस्तुति)

आभास लाभ की शानदार प्रस्तुति

एक पान के दो टुकड़ों से ओठ हैं दोनों लाल

राम और लक्ष्मण के जैसे हैं, भारत और नेपाल

बोलो जी भैया, जय जानकी राम

बोलोजी भैया, जय जानकी राम

भाई–भाई के सम्बन्धों को व्याख्या कहां कोई कर सकता

एक भाई हो दुखी तो दूसरा कैसे चुप रह सकता

दोनों में जो फूट दिला दे किसकी है ये मजाल

राम और लक्ष्मण के जैसे हैं, भारत और नेपाल

बोलो जी भैया, जय जानकी राम

बोलोजी भैया, जय जानकी राम

आर्यावर्ते रेवाखंडे जम्बुद्विपे दोनो पढ़ते

भूलके शाश्वत सम्बन्धों को मनगढ़ंत बाते गढ़ते

दोनों भाई में प्रेम अगर हो जाय फिर कमाल

राम और लक्ष्मण के जैसे हैं, भारत और नेपाल

बोलो जी भैया, जय जानकी राम

बोलोजी भैया, जय जानकी राम

राम सिया और वाहे गुरु की आशीर्वाद बनी रहे

फले फुले दोनों फुलवारी हर हृदय यही कहें

इस दुनिया के नक्शे बनी रहे मिशाल

राम और लक्ष्मण के जैसे हैं, भारत और नेपाल

बोलो जी भैया, जय जानकी राम

बोलोजी भैया, जय जानकी राम

इसे पढिये……………. 

 

सांस्कृतिक रिश्तों की गहरी नींव है नेपाल-भारत के सम्बन्धों में : डॉ.श्वेता दीप्ति (कार्यपत्र)

 

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: