Sun. Mar 29th, 2020

भारतीय बजट : क्या है हलवा सेरेमनी

भारत की वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण 5 जुलाइ को आम बजट संसद में पेश करेंगी और  22 जून को हलवा सेरेमनी के साथ ही बजट दस्‍तावेजों की प्रिंटिंग की शुरुआत हो गई है। यह परंपरा रही है कि बजट पेश करने से पहले सरकार द्वारा हलवा सेरेमनी का आयोजन किया जाता है। वित्त मंत्रालय के बेसमेंट में बजट के डॉक्यूमेंट्स की आधिकारिक छपाई हलवा सेरेमनी के साथ ही शुरू हो जाती है। ये हलवा वित्त मंत्री को ओर से लगभग 100 अधिकारियों और कर्मचारियों में बांटा जाता है।

क्‍या होती है हलवा सेरेमनी?

भारतीय परंपरा के अनुसार, किसी भी शुभ काम की शुरुआत से पहले लोगों का मुंह मीठा कराया जाता है। इसीलिए बजट बनाने की प्रकिया में भी हलवा सेरेमनी की शुरुआत हुई। इस अवसर पर वित्‍त मंत्री स्‍वयं प्रिंटिंग प्रेस से जुड़े कर्मचारियों और अधिकारियों को हलवा बांटकर प्रिंटिंग पक्रिया की शुरुआत करते हैं। इसके बाद वित्‍त मंत्रालय के लगभग 100 कर्मचारी नॉर्थ ब्‍लॉक के बेसमेंट में बने प्रिंटिंग प्रेस में अगले कुछ दिनों तक दुनिया से बिल्‍कुल कट कर रहते हैं।

बजट पेश होने तक दुनिया से बिल्‍कुल कटे रहते हैं कर्मचारी

देश के बजट की प्रिंटिंग सबसे गुप्‍त ऑपरेशंस में से ए‍क है। बजट से जुड़ी जानकारियां काफी महत्‍वपूर्ण होती हैं और इनके लीक होने से सरकार पर भी सवाल खड़े हो सकते हैं। इस दौरान कर्मचारी अपने परिवार या दोस्‍तों से न तो मिल सकते न ही बात कर सकते हैं। प्रिंटिंग प्रेस में एक लैंडलाइन फोन होता है जिसमें सिर्फ इनकमिंग की सुविधा होती है। इसके अलावा, गिने-चुने अधिकारियों के अलावा यहां किसी को आने की अनुमति नहीं होती है।

 

 

Loading...

 
आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: