Fri. Sep 20th, 2019

विश्व रिकार्ड भास्कर

संतोष कुमार मौर्य

कर्म में विश्वास का है नाम भास्कर ।
विश्व होमियोपैथी में इक नाम भास्कर ।
करते हैं सदा ही अलग बस काम भास्कर ।
नित ही रचते हैं नया इतिहास भास्कर ।
साहित्य में भी हो रहा गुणगान भास्कर ।
जनपद ही नहीं देश के भी मान भास्कर ।
आधुनिक होमियोपैथी के आविष्कार भास्कर ।
सर्वधर्म समभाव का करते संचार भास्कर ।
सेवा अस्माकं धर्म है नीति भास्कर ।
भारतीय संस्कृति का अमिट विश्वास भास्कर ।
मानवता के अतुल्य विस्तार भास्कर ।
स्वस्थ समाज के लिए संकल्पित हैं भास्कर ।
गरीबों व असहायों के लिए सुबह भास्कर ।
चिकित्सा जगत में लिख रहे नवगीत भास्कर ।

सिद्धार्थनगर उत्तरप्रदेश

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *