Mon. May 25th, 2020

माँ चाहिए ! पत्नी चाहिए ! बहन चाहिए -फिर बेटी क्यों नहीं चाहिए : लक्ष्मण नेवटिया

  • 58
    Shares

नारीशक्ति के २१ सुत्र :  लक्ष्मण नेवटिया

# 1 नारी वो शक्ती है जहाँसे जीवन शुरु होता है।

#2 कोई भी देश तरक्की के शिखर पर नहीं पहुँच सकता जब तक उसकी महिलाएं कन्धा से कन्धा मिला कर ना चले।

#3 बेटियाँ हर किसी के मुक्कदर में कहाँ होती है, रब को जो घर पसंद आये बस वहां होती है।

#4 नारी है तो कल है।

#5 अगर एक आदमी को शिक्षित किया जाता है तो एक आदमी ही शिक्षित होता है ! लेकिन जब एक औरत को शिक्षित किया जाता है तब एक पीढ़ी शिक्षित होती है।

यह भी पढें   अब राजा का तस्वीर वाला नोट नहीं चलेगी

#6 नारी आगे ! देश बढेगा आगे !

#7 महिलायें राष्ट्र कि आँखें हैं

#9 महिलाओं कि उन्नति या अवनति पर ही राष्ट्र कि उन्नति या अवनति निर्भर है।

#10 माँ चाहिए ! पत्नी चाहिए ! बहन चाहिए – फिर बेटी क्यों नहीं चाहिए·।

#11 हमारी बेटियां हमारा भविष्य है।

#12 नारी को ना समझो बेकार, जीवन का है यह आधार।

#13 बेटी बचाओ और जीवन सजाओ, बेटी पढाओ और खुशहाली बढाओ।

#14 माँ दुर्गा की चाहे कितनी भी पूजा कर लो, चाहे 9 दिन अखंड उपवास कर लो, लेकिन अगर औरत की इज्जत करना नहीं सिखा तो सब बेकार है।

यह भी पढें   महोत्तरी में पुलिस और तस्कर के बीच भीडन्त, पुलिस की गोली से एक तस्कर मारे गए

#15 एक शिक्षित और गुणवत्ता पुरुष हमेशा नारी जाती का सम्मान सामान रूप से करता है।

#16 नारी को दो इतना सम्मान कि बढे हमारे देश की शान।

#17 महिलाओं को आगे लायें, बराबरी का साथ निभाएं।

#18 महिलाओं को दें शिक्षा और ज्ञान, तभी बढेगा देश का सम्मान।

#19 कर्तव्यों संग नारी भर रही है उड़ान, ना कोई शिकायत ना कोई थकान।

#20 नारी माँ है, बेटी है, बहन है ! सब कुछ है फिर अबला क्यों?

यह भी पढें   सोमवार को ईद मनेगी, सार्वजनिक विदा

#21 नारीकी शक्ती संयम व शालिनताके बांधमें बंधी हुई हो तो नहर बनकर समाजकी उजाड पडी मरुभूमिको भी हराभरा कर सकती है।

लक्ष्मण नेवटिया,
विराटनगर -९

आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...
%d bloggers like this: