Thu. Jan 23rd, 2020

Month: October 2015

असली ध्यये मधेश को गुलाम करना और पहाड़ी सत्ता को बरक़रार रखना ही है : मुरलीमनोहर तिवारी

मुरलीमनोहर तिवारी (सिपु) , बीरगंज, ३० अक्टूबर | “एगो फुटले फुटल, एगो के पेनिए ना” 

 

नेपाल न भारत का मित्र न चीन का, केवल ठगने वाला भिखारी और नाशा मे स्वाभिमानी है : कैलाश महतो

कैलाश महतो, परासी , २६ अक्टूबर | विश्व रेकर्ड तोड़ मधेश आन्दोलन, सौम्य नाकाबन्दी ।

 

वार्ता का ढोंग जारी है, मधेश चाहिए मधेशी नहीं-सत्ताधारियों की सोच : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू, २५ अक्टूबर | माना जाता है कि गेन्डे की खाल बहुत मोटी

 

बेहाल जनता और बेखबर शासक के बीच नेपाल का भविष्य हिचकोले खा रहाहै : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति, काठमांडू , २१ अक्टूबर | अभावों और परेशानियों के बीच दशहरा समाप्ति की

 

अभी शहीदों के खून का रंग भी हल्का नहीं पड़ा, नेताओं ने अपना रंग दिखा दिया : मुरलीमनोहर तिवारी

मुरलीमनोहर तिवारी ( सिपु), बीरगंज , १७ अक्टूबर | शिकरी आएगा, जाल बिछाएगा, दाना डालेगा,

 

शुशिल कोईरालाके जिताने लिए नही बल्की केपी ओलीके हराने के लिए कोईरालाके भोट

उर्मिला यादव यात्री,नवलपरासी,असोज २८ : तराई मधेस लोकतान्त्रिक पार्टीके वरिष्ठ उपाध्यक्ष हृदयश त्रिपाठीने तिन  दलके

 

अल्लाह ही जानें

प्रकाशप्रसाद उपाध्याय:रसों की प्रतीक्षा के बाद खुदा मेहरवान हो ही गए । देश में गणतंत्र

 

कबलाह

ओमप्रकाश सीकारिया:सदियों से मनुष्य भौतिक सत्ता से परे कुछ निराले की खोज में लगा रहा

 

नेपालगंज में “प्रकोप व्यवस्थापन में जुनियर युवा रेडक्रस की भूमिका विषयक” निबन्ध प्रतियोगिता

नेपालगंज,(बाके) पवन जायसवाल, असोज २३ गते । नेपाल रेडक्रस सोसाइटी बाके जिला शाखा के आयोजना