Wed. Feb 19th, 2020

Month: February 2016

मधेश आन्दोलन की भावी कार्य दिशा, आर या पार की लड़ाई : राजेन्द्र महतो

काठमान्डौ, २८ फरवरीसदेभावना पार्टी के संयोजकत्व में मधेश आन्दोलन की भावी कार्य-दिशा विषयक अन्तरक्रिया कार्यक्रम

 

नेपाल रेडक्रस सोसाइटी बा“के जिला शाखा के आयोजन में जिला स्तरीय हाजिरी जवाफ प्रतियोगिता

नेपालगंज÷(बा“के) पवन जायसवाल, २०७२ फागुन १६ गते ।नेपाल रेडक्रस सोसाइटी बा“के जिला शाखा के आयोजन

 

भारतीय सांस्कृतिक केन्द्र द्वारा सांस्कृतिक और शैक्षिक आदान प्रदान सम्बन्धित कार्यक्रम का आयोजन

भारतीय सांस्कृतिक केन्द्र (इंडियन कल्चर सेन्टर) भारत द्वारा सांस्कृतिक और शैक्षिक आदान प्रदान सम्बन्धित कार्यक्रम

 

महेन्द्रनारायण निधि पुरस्कार प्रदान, राजेश्वर नेपाली सम्मानित

काठमान्डौ,२५फरवरी काठमान्डौ, महिला आयोग के सभागार में महेन्द्र नारायण निधि स्मृति प्रतिष्ठान और महेन्द्र नारायण

 

अलाउद्दीन स्मृति साहित्यिक समाज प्रतिष्ठान बाँके के आयोजन में स्रष्टा सम्मान, कृति विमोचन, बहुभाषिक कवि गोष्ठी

नेपालगन्ज÷(बाँके) पवन जायसवाल,२०७२ फागुन ९ गते ।बाँके जिला के नेपालगन्ज महेन्द्र पुस्तकालय में फागुन ८

 

रक्तदान जीवनदान

नेपालगन्ज÷(बाँके) पवन जायसवाल बाँके जिला में ६६ वाँ प्रजातन्त्र दिवस के अवसर पर रक्तदान जीवनदान

 

सूचना का हक

नेपालगन्ज÷ (बाँके) पवन जायसवाल २०७२ फागुन ९ गते । राष्ट्रीय सूचना आयोग के प्रमुख आयुक्त

 

समझौता

समझौतागंगेश मिश्र, कपिलवस्तु२२,फरवरीसमझौते होते रहे हैं,होते रहेंगे।जिन्हें बोने हैं काँटेबोते रहेंगे।फिर वही होगा,जो होता रहा

 

लाहान में लाठी जुलुस प्रदर्शन, मधेश आवाम के मनोविज्ञान को सरकार समझे उसे अनदेखा करने की गलती ना करे

मनोज बनैता, लाहान, १७ फरवरी । मधेसी मोर्चा द्धारा जारी किए गए कार्यक्रम के अनुसार

 

मधेश की मिट्टी खून से सींचित है, आंदोलन मरा नहीं जीवित है : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति,काठमांडू,17 फरवरी । ग्रीक की मिथकीय कथाओं में एक पक्षी की चर्चा होती है

 

सार्वजनिक वित्त व्यवस्थापन के लिये सामाजिक जवाफदेहिता परियोजना अन्तरगत एक दिन की तालीम सम्पन्न

नेपालगन्ज÷(बाँके) पवन जायसवाल, २०७२ फाल्गुन ३ गते ।सार्वजनिक वित्त व्यवस्थापन के लिये सामाजिक जवाफदेहिता परियोजना

 

सीमांकन सम्बन्धी विवाद कैसे समाधान हो सकता है ?

पाँच महीने से तराई÷मधेश आन्दोलनरत है । आन्दोलन का मुख्य मुद्दा सीमांकन परिवर्तन, समावेशी–समानुपातिक प्रतिनिधित्व