Sat. May 30th, 2020

बिचार

भारतीय नाकाबंदी दिखाने के चक्कर में ओली सरकार के सारे दांव उलटे पड़ गये : मुरलीमनोहर तिवारी

मुरलीमनोहर तिवारी (सिपु), बीरगंज, १८ नोभेम्बर | सौ दिन के मधेश आंदोलन में कई उतार-चढ़ाव

घृणावाद ! इस देश में खराब तो बस राजेन्द्र महतो हैं ओली तो दूध का धोया हुआ : बिम्मीशर्मा

बिम्मीशर्मा, काठमांडू १० नोभेम्बर ,(व्यग्ंय) अभाव के इस कालरात्रि में और कुछ फले न फले

नयाँ-सम्विधान तो मधेशियो को अघोषित रूप मे हत्या करने की सारी तैयारी ही कर चुकी है : कैलाश महतो,

कैलाश महतो,परासी , ६ नोभेम्बर | शान्तिपूर्ण रूप से मधेश मे आन्दोलन कर रहे मधेशियो

गैल भैंस पानी में ! नेपाल के दुश्मन तो सिर्फ भारत है, चीन तो कुल देवता हैं ! -बिम्मीशर्मा

व्यग्ंय-बिम्मीशर्मा , काठमांडू , ३ नोभेम्बर | मधेश में करीब तीन महीने से आन्दोलन हो

नेपाल न भारत का मित्र न चीन का, केवल ठगने वाला भिखारी और नाशा मे स्वाभिमानी है : कैलाश महतो

कैलाश महतो, परासी , २६ अक्टूबर | विश्व रेकर्ड तोड़ मधेश आन्दोलन, सौम्य नाकाबन्दी ।

हाय रे राष्ट्रवाद ! गागर मे भरी हुई जल की तरह जहां, तहां छलक जाती है : बिम्मीशर्मा

बिम्मीशर्मा, काठमांडू , २२,सेप्टेम्बर | हम नेपालवासियों के अन्दर राष्ट्रवाद कूट, कूट कर भरा है

नेपाली राज और उसकी राजनीति, जातीय विभेद एवं नस्लीय उदण्डता का पराकाष्टा है : कैलाश महतो

कैलाश महतो, पारसी, २८ ,अगस्त विश्व प्रशिद्ध प्राचीन कुटनीतिज्ञ तथा अर्थशास्त्र के जन्मदाता आचार्य चाणक्य

मधेश और मधेशी के अस्तित्व के बारे में सौदेबाजी अवैध मानी जाएगी : दीपेन्द्र चौबे

दीपेन्द्र चौबे,अधिवक्ता, काठमांडू, १७-८ १५ | लोकतंत्र आज की दुनिया का आदर्श है। बहुमत से

पड़ोसी कभी बदले नहीं जा सकते, उससे रिश्ते में तनाव पैदा करना सिर्फ पीड़ा ही देगा : श्वेता दीप्ति

राष्ट्रीयता ! राष्ट्रीयता ! राष्ट्रीयता !!! स्वाधीनता ! स्वाधीनता ! स्वाधीनता !!! नागरिकता ! नागरिकता

स्वराज की माँग आत्मसम्मान की माँग होती है, डा. राउत ने मधेश को जगाने की कोशिश की : श्वेता दीप्ति

श्वेता दीप्ति , १९,अप्रिल, काठमांडू | भारत में सामाजिक क्रांति की लहरें एक औपनिवेशिक माहौल